Siwan News ताज़ा ख़बरें

बाइक की चपेट में आने से महिला की मौत पर हंगामा

परवेज़ अख्तर/सीवान:- सीवान छपरा- सीवान मुख्य मार्ग पर जसौली पैट्रोल पंप के समीप शुक्रवार की दोपहर अनियंत्रित बाइक की चपेट में आने से एक वृद्ध महिला की मौत हो गई। मृतक जसौली गांव के स्व. तपेश्वर चौधरी की पत्नी अनारकली देवी थी। इधर, महिला की मौत से आक्रोशित लोगों ने शव को पुलिस के कब्जे से लेकर छपरा-सीवान मुख्य मार्ग पर रख दिया जिससे काफी देर तक सड़क को जाम रहा। इससे दो घंटे तक इस मार्ग पर आवागमन बाधित रहा। आक्रोशित लोग प्रशासन से पीड़ित परिवार को तत्काल उचित मुआवजा दिलाने व छपरा-सीवान मुख्य मार्ग पर वाहनों की गति कम करने की मांग कर रहे थे। नारेबाजी के दौरान उग्र लोग कई बार निजी क्लीनिक में तोड़फोड़ का प्रयास भी किया, जहां बाइक के चालक ने दुर्घटना के बाद मरी महिला के शव को ले जाकर रखा था। हालांकि काफी संख्या में पुलिस की मौजूदगी व सख्ती से लोगों की एक न चली। इधर, पुलिस की कड़ी मशक्कत के बाद आक्रोशित लोग शांत हुये। बाद में स्थानीय लोगों के सहयोग से पुलिस ने बाइक चालक को गिरफ्तार कर लिया है।

पेंशन उठा लौट रही थी अपने घर जसौली

बाइक की चपेट में आने से प्राण गंवाने वाली अनारकली देवी प्रखंड स्थित बैंक से वृद्धा पेंशन की राशि का उठाव कर घर जसौली लौट रही थी। इसी दौरान पैट्रोल पंप के समीप बाइक की चपेट में आने से गंभीर रूप से जख्मी हो गई। इसकी सूचना मिलते ही परिजन घटनास्थल पर पहुंचे, लेकिन घायल महिला वहां पर नहीं थी। इससे परिजनों की बेचैनी बढ़ गई। परिजन पीएचसी व अन्य स्थान पर भागदौड़ करने लगे। बावजूद महिला का कहीं कोई पता नहीं चल रहा था। इसके बाद घटना की सूचना थाने को दी गई। इस बात की खबर लगते ही पुलिस ने घायल महिला का पता लगाने के लिए कई खोजबीन शुरू कर दी। इसी दौरान कुछ लोगों ने परिजनों को बताया कि बाइक सवार घायल महिला को अपनी गाड़ी से लेकर कहीं चला गया है। इससे घरवाले और अधिक बेचैन हो गए। हालांकि करीब तीन घंटे बाद पुलिस को खबर मिली कि महिला का शव पचरुखी के एक निजी अस्पताल में पड़ा हुआ है। आनन-फानन में अस्पताल पहुंची पुलिस ने शव को अस्पताल से कब्जे में लेने के साथ ही बाइक चालक को भी गिरफ्तार कर लिया।

अनियंत्रित वाहनों की गति पर लगे लगाम

छपरा-सीवान मुख्य मार्ग पर जसौली पैट्रोल पंप के समीप अनियंत्रित बाइक की चपेट में आने से वृद्ध महिला की हुई मौत से लोग काफी आक्रोशित हो गए थे। लोगों का कहना था कि इस मार्ग पर घटना का मुख्य कारण वाहनों की अनियंत्रित गति भी है। जब-तक छपरा-सीवान मुख्य मार्ग पर ब्रेकर नहीं बनाए जाते और वाहनों की गति नियंत्रित नहीं होती है, आए दिन घटनाएं होती रहेगी। लोग इस मार्ग पर पचरुखी बाजार में वाहनों की एक निश्चित गति लगाने की बात कह रहे थे। कहा कि बाजार में आपाधापी मची रहती है। भीड़ के बावजूद वाहन की गति नियंत्रित नहीं होती है। इससे दुर्घटना घटित होते रहती है।