Siwan News ताज़ा ख़बरें

ग्रामीण बैंक में हड़ताल से ग्रामीण क्षेत्र में कार्य बाधित

परवेज अख्तर, सिवान:- यूनाईटेड फोरम ऑफ ग्रामीण बैंक यूनियन के आहृान पर तीन दिवसीय हड़ताल पर गए ग्रामीण बैंक के अधिकारी व कर्मियों की हड़ताल का असर दूसरे दिन भी देखा गया। खासकर ग्रामीण इलाके में लेनदेन का कार्य पूरी तरह से प्रभावित रहा। जिले में उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक की सभी 84 शाखाओं में कार्य ठप रहा। ग्रामीण बैंक से जुड़े जिले के सभी बैंककर्मी शहर के अयोध्यापुरी स्थित क्षेत्रीय कार्यालय पहुंचे। यहां धरने को जारी रखते हुए अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी की गई। बैंककर्मियों ने आरोप लगाया कि वर्तमान सरकार की नीतियां ग्रामीण क्षेत्र विरोधी है। यही कारण है कि सरकार की नीतियों से त्रस्त जनता भी उत्तरबिहार ग्रामीण बैंक के कर्मियों के हड़ताल को अपना समर्थन दे रही है। धरने को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने ग्रामीण बैंकों में पूंजी का विनिवेश व निजीकरण करने का खुलकर विरोध किया। इसके साथ ही प्रवर्तक बैंकों की तरह ही अवकाश ग्रहण करने के बाद बैंक कर्मियों को पेंशन देने की मांग की गई। कहा गया कि प्रर्वतक बैंकों की तरह ही मृतकों के आश्रितों को अनुकंपा पर सरकार नौकरी दे व प्रर्वतक बैंकों की तरह ही कंप्यूटर इंक्रीमेंट भी लागू हो। प्रर्वतक बैंकों के समान सेवार्थ व प्रोन्नति नीति लागू करने की मांग करते हुए दैनिक मजदूरों की सेवा नियमित करने की बात कही गई। धरने पर बैठे लोगों ने आईबीए को ग्रामीण बैंकों के साथ वार्ता के लिए शीर्ष संगठन घोषित करने की मांग की। धरना में उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक इम्पलाईज एसोसिएशन एवं ऑफिसर फेडरेशन के उपाध्यक्ष शिवशंकर प्रसाद यादव, अरुण प्रभात, राजेश्वर सिंह के अलावा अरुण कुमार विद्यार्थी, श्यामबहादुर राम, बीके मांझी, रामाधार बैठा व महेश श्रीवास्तव ने अपनी बात रखी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *