rifle
Siwan News ताज़ा ख़बरें

पुलिस के हाथ लगी राइफल, जांच करेंगे मेजर

अब जख्म प्रतिवेदन का इंतजार

मामला: चांदपाली गांव का

परवेज़ अख्तर/ सिवान:- जिले के जीरादेई थाना क्षेत्र के चांदपाली गांव में विगत 16 अप्रैल को हुई घटित घटना में एसपी नवीनचंद्र झा के निर्देश के आलोक में जीरादेई पुलिस ने गांव के लाइसेंसधारी मो. इशा को विभागीय नोटिस का तामिला कराकर फायरिंग में इस्तेमाल राइफल को जब्त कर लिया।जीरादेई पुलिस ने लाइसेंसी राइफल थाने में जमा करने के लिए बुधवार को नोटिस की तामिला चौकीदार लालबाबू गिरि के द्वारा कराई थी। उधर जैसे ही नोटिस की तामिला चौकीदार द्वारा कराई गई तो लाइसेंसधारी मो. इशा ने राइफल को बुधवार की देर शाम स्थानीय थाना में थानाध्यक्ष सुनील कुमार के समक्ष सिपुर्द कर दिया। राइफल को जब्त करने के बाद पुलिस उक्त राइफल को पुलिस लाइन के मेजर के यहां भेजने की कवायद अब शुरू करेगी, क्योंकि पुलिस अभी कुछ और साक्ष्य इकट्ठा कर रही है। दूसरी ओर यह बात भी पुलिस के वरीय पदाधिकारी द्वारा किए गए जांच में सामने आई है कि लाइसेंसधारी ने दो दिनों के अंदर राइफल से गोली फायर के साक्ष्य मिटाने के लिए काफी प्रयास किया था। बता दें कि जब्त राइफल की जांच सही रूप से पुलिस लाइन के मेजर द्वारा नहीं की जाती है तो पुलिस उस स्थिति में जब्त राइफल का फॉरेंसिक जांच के लिए बाइले स्टीक विभाग पटना भेजेगी ताकि जांच में सही-सही बात सामने आए। अगर जांच में सही बात सामने आ गई तो पुलिस उक्त लाइसेंस को निरस्त करने के लिए जिलाधिकारी को पत्राचार करेगी ताकि उसके लाइसेंस की अनुज्ञप्ति रद्द की जा सके। इधर एसपी के निर्देश के आलोक में स्थानीय थाना में एफआइआर की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। जानकारी के अनुसार प्राथमिकी में विलंब होने का कारण यह है कि पुलिस को अभी तक जख्म प्रतिवेदन नहीं मिले हैं। पुलिस का मानना है कि अगर जख्म प्रतिवेदन हाथ लगेंगे तो प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। वैसे पुलिस इस घटना को लेकर स्टेशन डायरी भी अंकित कर चुकी है ताकि स्थानीय पुलिस पर कोई विभागीय कार्रवाई न हो। बता दें कि चांदपाली गांव में 16 अप्रैल को दो युवकों के आपसी विवाद में फायरिंग की घटना हुई थी जिसमें रमजान अली उर्फ मुन्ना मियां के पुत्र मो. झुनझुन घायल हो गया था। गोली उसके सीने को छूते हुए निकल गई। गोली लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया जिसका इलाज सदर अस्पताल में कराया गया लेकिन इलाज के दौरान घायल मो. झुनझुन ने गोली से घायल ना होने तथा पटाखा से घायल होने की बात नगर थाना पुलिस के फर्द बयान में बताया। उसने साफ तौर पर गोली की घटना से इन्कार किया था।बहरहाल चाहे जो हो चांदपाली की घटना अभी भी इलाके में एक चर्चा का बिषय बना हुआ है। लोग जितनी मुँह उतनी बातें कर रहे है।